ईश्वर तुझे हैं कहते | ishvar tujhe hai kahte

ईश्वर तुझे हैं कहते, भगवान नाम तेरा | ishwar tujhe hai kehte Prayer


ईश्वर तुझे हैं कहते, भगवान नाम तेरा।
हर शाख-शाख तेरी, प्रभु ओउम नाम तेरा।।

आजा तू मेरे मन में , नैनों में तू समा जा।
नन्हा सा घर है मेरा, जिसमें निवास तेरा।।

ईश्वर तुझे हैं कहते, भगवान नाम तेरा।


फूलों का तू है माली, कलियों में तू है लाली।
सारी जमीं है तेरी, यह आसमान तेरा।।

ईश्वर तुझे हैं कहते,भगवान नाम तेरा।

वेदों में तू लिखा है, पुराणों में तू छिपा है।
गीता पुकारती है,प्रभु ओउम नाम तेरा।।

ईश्वर तुझे हैं कहते, भगवान नाम तेरा।


नोट- प्रिय पाठकों यह प्रार्थना स्कूल विद्यालय और कॉलेजों में बहुत प्रचलित है किंतु इसको अलग-अलग जगह अलग-अलग तरीके से गाया जाता है और इसमें प्रयुक्त होने वाली पंक्तियों को अलग अलग तरीके से बोला भी जाता है किंतु इसका अर्थ यह नहीं है कि यह प्रार्थना गलत है और आपने जो प्रार्थना सुनी है वह सही है आपने इस प्रार्थना के जितने भी रूप सुने हैं वह अपनी सुविधा अनुसार रखे गए हैं और अपनी सुविधा अनुसार ही उनको गाया भी जाता है तो आप इसमें से केवल वही पंक्तियां चुने जो आपके यहां प्रचलित हैं।
उदाहरण हेतु-:
1. पुराणों में तू छिपा है = पुराणों में तू बसा है।
2. कलियों में तू है लाली = कलियों की तू है लाली।
3. आजा तू मेरे मन में, नैनों में तू समा जा= आज तू मेरे घर में, घर-घर बनाके खेलें।
4. नन्हा सा घर है मेरा, जिसमें निवास तेरा = नन्हा सा घर है मेरा, उसमें मुकाम तेरा।

Post a comment

2 Comments