संसाधन किसे कहते है व कितने प्रकार के होते हैं? | What are Resources?

संसाधन शब्द को हम अपने दिन प्रति दिन में कई बार सुनते रहते हैं जैसे कि संसाधनों का विकास, संसाधनों की आपूर्ति, संसाधनों का दोहन आदि| आज हम इस लेख के द्वारा जानेंगे कि संसाधन किसे कहते है? संसाधन कितने प्रकार के होते हैं?

संसाधन किसे कहते है /क्या है?

हमारी पृथ्वी पर विद्यमान प्रत्येक वस्तु जो हमारी आवश्यकता की पूर्ति करती हो अथवा आवश्यकताओं की पूर्ति करने में उपयोग की जाती है संसाधन कहलाती है|
दूसरे शब्दों में कहा जा सकता है कि प्रत्येक वस्तु जिस की उपयोगिता आवश्यकता हो संसाधन कहलाती है
उदाहरण के लिए पेड़ पौधे , पानी मिट्टी, धातु अधातु चट्टाने वनस्पतियां ऊर्जा(सौर ऊर्जा पवन ऊर्जा इत्यादि)

संसाधन कितने प्रकार के होते हैं?

सामान्यतः संसाधन दो प्रकार के होते हैं:
  • मानव निर्मित संसाधन
  • प्राकृतिक संसाधन

मानव निर्मित संसाधन किसे कहते है /क्या है?

मानव निर्मित संसाधन मानव निर्मित संसाधनों में ऐसी वस्तुएं आती हैं जिनको मनुष्य ने अपनी सुविधा के लिए बनाया है|
जैसे : गाड़ी, सड़क, मेज, पंखा, मोबाइल, कंप्यूटर इत्यादि|

प्राकृतिक निर्मित संसाधन किसे कहते है /क्या है?

प्राकृतिक संसाधन प्रकृतिक संसाधनों में ऐसी वस्तुएं आती हैं जो स्वतः ही प्राकृतिक रूप से विद्यमान है सभी की आवश्यकताओं को पूर्ण करती हैं
उदाहरण के लिए : पानी, हवा, मिट्टी, चट्टाने, वनस्पतियां, पवन ऊर्जा, सौर ऊर्जा, प्राकृतिक गैस इत्यादि|

प्राकृतिक संसाधनों की सहायता से मानव निर्मित संसाधनों को निर्मित किया जाता है

प्राकृतिक संसाधन कितने प्रकार के होते हैं?

प्राकृतिक संसाधन दो प्रकार के होते हैं :
  • नवीकरणीय प्राकृतिक संसाधन
  • अनवीकरणीय प्राकृतिक संसाधन

नवीकरणीय प्राकृतिक निर्मित संसाधन किसे कहते है /क्या है?

नवीकरणीय प्राकृतिक संसाधन इसके अंतर्गत वे प्राकृतिक संसाधन आते हैं जो जो कभी नष्ट नहीं हो सकते हैं एवं जिन का नवीनीकरण किया जा सकता है जैसे : सौर ऊर्जा, पवन, ऊर्जा, जल, वायु आदि|

अनवीकरणीय प्राकृतिक निर्मित संसाधन किसे कहते है /क्या है?

अनवीकरणीय प्राकृतिक संसाधन ऐसे प्राकृतिक संसाधन जिन का अत्यधिक प्रयोग करने से वह समाप्त होने के कगार पर आ जाते हैं उनका नवीकरण करना जयंत दुर्लभ हो जाता है जैसे : कोयला, प्राकृतिक गैस, पेट्रोल, डीजल ,मिट्टी तेल इत्यादि|

एक अन्य वर्गीकरण के अनुसार संसाधन दो प्रकार के होते हैं:

  1. जैव संसाधन 
  2. अजैव संसाधन

जैव संसाधन किसे कहते है /क्या है?

जैव संसाधन ऐसे संसाधन जो जीवित हैं अथवा जो सांस ले सकते हैं अर्थात सजीव अवस्था में पाए जाने वाले संसाधनों को जल संसाधन का जाता है जैसे : मनुष्य, वनस्पति, मछलियां, पशु, पक्षी इत्यादि|

अजैव संसाधन किसे कहते है /क्या है?

अजैव संसाधन वे संसाधन जो निर्जीव वस्तुओं से बने होते हैं जैसे चट्टान पत्थर मिट्टी पानी हवा धातु अधातु इत्यादि|

[आशा करते है कि आप इस जानकारी से संतुस्ट हुए होंगे | यदि आपको कोई भी जानकारी से आपत्ति है तो आप हमारे कांटेक्ट पेज में जाकर हमें सूचित कर सकते है या कमेन्ट बॉक्स में अपना सुझाव प्रदर्शित कर सकते है| यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आया तो हमें कमेंट करके बताए|]

Post a Comment

0 Comments