ओवर हैड प्रोजेक्टर (सिरोपरि प्रक्षेपी) | OverHead Projector

ओवर हैड प्रोजेक्टर (सिरोपरि प्रक्षेपी)

प्रिया पाठकों इस लेख में आपको सिरोपरि प्रक्षेपी अर्थात ओवरहेड प्रोजेक्टर के बारे में वे जानकारियां दी जाएंगी जिनको अक्सर हम किताबों में नहीं देखते हैं जैसे ओवरहेड प्रोजेक्टर की आवश्यकता क्यों पड़ती है? ओवरहेड प्रोजेक्टर क्या है? ओवरहेड प्रोजेक्टर का मुख्य उद्देश्य क्या है?ट्रांसपेरेंट शीट क्या है? ट्रांसपरेंसी शीट कैसे बनाते हैं?


परिचय :

कक्षा कक्ष में जब शिक्षक विद्यार्थियों को पढ़ाता है तो वह व्याख्यान विधि के साथ-साथ श्यामपट्ट का भी प्रयोग करता है और श्यामपट्ट पर लिखते या चित्र बनाते समय बच्चों की तरफ पीठ हो जाती है, शिक्षक का ध्यान श्यामपट्ट पर रहता है, तो तब तक बच्चे निष्क्रिय रहते हैं जिससे कईं बार वे अनुशासनहीनता कर देते हैं और शिक्षण कम प्रभावशील हो जाता है। अतः इस समस्या के निराकरण हेतु ओवर हैड प्रोजेक्टर की आवश्यकता पड़ती है।

ओवर हैड प्रोजेक्टर क्या है?

ओवर हैड प्रोजेक्टर एक ऐसा यंत्र (डिवाइस) है जो एक ओवरहेड मिरर पर रखी गयी एक पारदर्शी शीट (transparent sheet) के माध्यम से एक दीवार या स्क्रीन एक बढ़ी (large) हुई छवि (image) /फोटो को प्रोजेक्ट (प्रक्षेपित) करता है।

ओवर हेड प्रोजेक्टर का उद्देश्य क्या है?
यह शिक्षक एवं छात्र के मध्य परस्पर सम्प्रेषण (communication) को अधिक प्रभावशाली बनाता है यही इसका प्रमुख उद्देश्य है।

ट्रांसपेरेंट शीट क्या है?

ट्रांसपेरेंट शीट एक पारदर्शी प्लास्टिक शीट होती है जोकि A4 साइज में आती है और यह है किसी भी स्टेशनरी की दुकान पर आसानी से उपलब्ध होती है ट्रांसपेरेंसी सीट के साथ एक A4 साइज का हल्का ट्रांसपेरेंट पेपर भी आता है जो कि किसी किताब अथवा डायरी से चित्र को स्पष्ट तरीके से छापने के काम भी आता है। ट्रांसपेरेंट सीट पर केवल परमानेंट मार्कर का ही उपयोग करना चाहिए अन्यथा इस पर साधारण मारकर का प्रयोग करने से यह प्रभावशाली नहीं होती है और हल्का हाथ लगने पर ही इस पर बनाए गए चित्र मिट जाते हैं।




ट्रांसपरेंसी शीट कैसे तैयार करें?

यदि आप ट्रांसपेरेंट सीट को बनाना चाहते हैं तो आपको सर्वप्रथम दुकान जाकर ट्रांसपेरेंट सीट लेनी होगी और साथ ही साथ कुछ कलरफुल परमानेंट मार्कर की आवश्यकता पड़ेगी जैसे लाल पीला हरा नीला और काला इत्यादि।
यदि आप की किताब में आपने कोई चित्र देखा है जिसको आप बनाना चाहते हैं तो ट्रांसपेरेंट सीट को चित्र के ऊपर रखिए और बिना शीट को ज्यादा हिलाये, डायरेक्टली परमानेंट मार्कर से उसे बनाना प्रारंभ कर सकते हैं जब आप चित्र के बाहिया आवरण को तैयार कर लें तो आप इसमें अन्य रंगों के मारकर का इस्तेमाल करके इसे और भी आकर्षक बना सकते हैं यह केवल आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप अपने चित्र को कितना आकर्षक बना सकते हैं।
चित्र बन जाने के पश्चात आप सीट के ऊपर अथवा सीट के नीचे की तरफ अपने चित्र का शीर्षक अथवा टॉपिक का नाम लिख सकते हैं जैसा ऊपर दिए गए चित्र में दिखाया गया है।




उपयोग करते समय ध्यान देने योग्य बातें:

  • ट्रांसपरेंसी शीट पर केवल परमानेंट मार्कर से ही लिखे और चित्र बनाये।
  • ट्रांसपरेंसी शीट पर बनाये गए चित्रों का आकार अत्यधिक छोटा न हो।
  • ट्रांसपेरेंसी सीट पर लिखे शब्द सुस्पष्ट एवं सुदृश्य हों।
  • प्रदर्शन पर्दे से अंतिम छात्र के बीच की 6-7 मीटर से अधिक न हो।

Post a Comment

0 Comments