पुस्तक समीक्षा (Book Review)

जब हम किसी फिल्म को देखते हैं तो अपने दोस्तों को बताते हैं यह फिल्म इस विषय पर है इसमें यह बताया गया है और यह सभी को देखनी चाहिए तो वास्तव में हम उस फिल्म की समीक्षा कर अपने दोस्त को बता रहे होते हैं। इसी प्रकार किसी पुस्तक के बारे में पुस्तक के सभी पहलुओं को लिखकर उजागर करना पुस्तक समीक्षा के अंतर्गत आता है और यह अन्य पाठकों पुस्तक पढ़ने अथवा न पढ़ने की के लिए प्रेरित करती है।

समीक्षा का अर्थ (Meaning of Review):

यदि आवश्यक हो तो परिवर्तन को स्थापित करने की संभावना या इरादे के साथ किसी चीज का औपचारिक मूल्यांकन या अवलोकन समीक्षा कहलाती है।

पुस्तक समीक्षा का अर्थ (Meaning of Book Review):

पुस्तक समीक्षा को अंग्रेजी में 'बुक रिव्यू' कहते हैं और वास्तव में पुस्तक समीक्षा का अर्थ  किसी पुस्तक का प्रभावशाली मूल्यांकन या अवलोकन से होता है।

पुस्तक समीक्षा की परिभाषा (Definition of Book Review):

किसी भी पुस्तक जैसे कहानी, उपन्यास, कविता, नाटक, वृतांत, एकांकी,यात्रा इत्यादि(किसी भी पुस्तक) के बारे में पढ़कर उसके सभी अच्छे एवं बुरे पहलुओं के बारे में अवलोकन कर एक रिपोर्ट तैयार करना पुस्तक की समीक्षा कहलाता है।

पाठ्य पुस्तक का मूल्यांकन/आकलन या अवलोकन (Review of Textbook):

अधिगम और शिक्षण की प्रक्रिया में शिक्षक एवं विद्यार्थियों दोनों को ही पुस्तक संबंधी समस्या का सामना करना पड़ता है। यदि शिक्षक हैं तो शिक्षक कौन सी पुस्तक से पढ़ाये इस समस्या से जूझना पड़ता है और यदि विद्यार्थी है तो वह कौन सी पुस्तक से पढ़ें इस समस्या का सामना करना पड़ता है।  लेकिन वर्तमान समय में लगभग सभी पुस्तकें माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा स्वीकृत एवं राष्ट्रीयकृत की गई हैं तो अब ऐसी समस्या का सामना विद्यार्थी एवं शिक्षक दोनों को ही नहीं करना पड़ता किंतु पुराने समय में ऐसा नहीं था इसलिए कई मनोवैज्ञानिक एवं शोधकर्ताओं ने एक अच्छी पुस्तक को चुनने के लिए मापन पत्रों का निर्माण किया जिसके द्वारा आज भी हम पुस्तक की श्रेष्ठता उपयोगिता का मूल्यांकन कर सकते हैं। इन मापन पत्रों को समीक्षा पत्र भी कहते हैं और इन पत्रों का निर्माण पुस्तक समीक्षा के लिए किया जाता है। इन समीक्षा पत्रों में प्रयुक्त मानकों को प्रशिक्षण संस्थान अपने अनुसार तय करते हैं।

उदाहरण के लिए हम 'लुइस बोगल' का पुस्तक मूल्यांकन देख सकते हैं जो कि इस प्रकार हैं। 

  1. पाठ्य पुस्तक का नाम ...........................
  2. लेखक का नाम ...................................
  3. प्रकाशक का नाम ................................
  4. कॉपीराइट वर्ष एवं................................
  5. मूल्य.................................................

पुस्तक समीक्षा के उद्देश्य (Objective of Book Review):

  1. पाठकों को पुस्तक अथवा पुस्तक की विषय वस्तु से परिचित कराना।
  2. लेखक की रचनात्मकता एवं लेखन शैली को उजागर करना।
  3. लेखक की दृष्टांतता को पाठकों के समक्ष प्रस्तुत करना।
  4. यदि संपूर्ण रूप से देखा जाए तो लेखक की योग्यता,विषय वस्तु का संगठन, प्रस्तुतीकरण, पठनीयता, शुद्धता, प्रतियक्षता, दृष्टांतता, अनुकूलनीयता इत्यादि का अवलोकन कर पाठकों के समक्ष प्रस्तुत किया करना।

Post a Comment

0 Comments