रकीबों से गिला नहीं | Rakeebon se gila nahin | Lalit Uttarakhandi


 Rakeebon se gila nahin



Rakeebon se gila nahin



रकीबों  से  गिला नहीं, गिला  दिलबर  से है।
काँटों  से  दर्द  नहीं, दर्द गुल-ए-तर  से  है।।




Rakeebon se gila nahin, gila dilbar se hai.
Kaanton se dard nahin, dard gul-e-tar se hai..


Post a comment

0 Comments